Thursday, October 1, 2009

श्रद्धांजलि




एक श्रद्धांजलि दादा जी को समर्पित है
उनके पोते और पोती के
प्यार के संगीत से।

2 comments:

  1. yah dono bacchon ko taswiren mere mitron ki hai jo maine unke dada ji ke swargwaas hone ke bad banai thi.

    ReplyDelete

आपके टिप्पणियों का स्वागत है.